Skip to main content

Sachin Pilot: रिश्ते की डोर खींचने पर कांग्रेस व सचिन पायलट में शह और मात का आखिरी दौर

संजय मिश्र, नई दिल्ली। गहलोत सरकार का खतरा टलने के बावजूद राजस्थान कांग्रेस के जारी संग्राम में 'साम-दाम-दंड-भेद' के सहारे एक दूसरे को मात देने की सियासत चरम पर पहुंच गई है। कांग्रेस ने सचिन पायलट और उनके समर्थकों पर नोटिस के जरिये कार्रवाई का डंडा चलाया तो पायलट ने भी सीधे शब्दों में भाजपा में नहीं जाने का ऐलान कर इस डंडे की धार कमजोर कर दी। तब कांग्रेस ने भी वापस गेंद अपने बागी नेता के पाले में डालते हुए साफ संदेश दिया कि भाजपा के सियासी जाल से निकल कर पायलट और उनके समर्थक घर लौट आते हैं तो उनके लिए पार्टी के दरवाजे खुले हैं। 

राजनीतिक-कानूनी पहलुओं को तौल रहे हैं पायलट 

सियासत बचाने की इस जंग में पायलट भी अपने पत्ते सधे तौर पर खेलते हुए अलग पार्टी बनाने से लेकर कांग्रेस में वापस लौटने के राजनीतिक-कानूनी पहलुओं को तौल रहे हैं। कांग्रेस की राजनीति के लिए सचिन पायलट की मौजूदा दौर में जरूरत और अहमियत को देखते हुए पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने सभी विधायकों के खिलाफ नोटिस के तौर पर चलाए गए अनुशासन के डंडे के बाद भी पायलट को वापस लौट आने का आखिरी निजी संदेश भेजा है। 




Sachin Pilot: रिश्ते की डोर खींचने पर कांग्रेस व सचिन पायलट में शह और मात का आखिरी दौर

newimg/15072020/15_07_2020-sachin_rahul_20515628.jpg
 



 Sachin Pilot: रिश्ते की डोर खींचने पर कांग्रेस व सचिन पायलट में शह और मात का आखिरी दौर

newimg/15072020/15_07_2020-sachin_rahul_20515628.jpg

संजय मिश्र, नई दिल्ली। गहलोत सरकार का खतरा टलने के बावजूद राजस्थान कांग्रेस के जारी संग्राम में 'साम-दाम-दंड-भेद' के सहारे एक दूसरे को मात देने की सियासत चरम पर पहुंच गई है। कांग्रेस ने सचिन पायलट और उनके समर्थकों पर नोटिस के जरिये कार्रवाई का डंडा चलाया तो पायलट ने भी सीधे शब्दों में भाजपा में नहीं जाने का ऐलान कर इस डंडे की धार कमजोर कर दी। तब कांग्रेस ने भी वापस गेंद अपने बागी नेता के पाले में डालते हुए साफ संदेश दिया कि भाजपा के सियासी जाल से निकल कर पायलट और उनके समर्थक घर लौट आते हैं तो उनके लिए पार्टी के दरवाजे खुले हैं। 

राजनीतिक-कानूनी पहलुओं को तौल रहे हैं पायलट 

सियासत बचाने की इस जंग में पायलट भी अपने पत्ते सधे तौर पर खेलते हुए अलग पार्टी बनाने से लेकर कांग्रेस में वापस लौटने के राजनीतिक-कानूनी पहलुओं को तौल रहे हैं। कांग्रेस की राजनीति के लिए सचिन पायलट की मौजूदा दौर में जरूरत और अहमियत को देखते हुए पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने सभी विधायकों के खिलाफ नोटिस के तौर पर चलाए गए अनुशासन के डंडे के बाद भी पायलट को वापस लौट आने का आखिरी निजी संदेश भेजा है। 


कांग्रेस ने पायलट के लिए अब भी दरवाजा खुल रखने की बात कही

पार्टी के उच्चपदस्थ सूत्रों ने कहा कि हाईकमान की ओर से अंतिम कोशिश के तहत पायलट को लौट आने पर उनकी राजनीतिक प्रतिष्ठा बहाल करने का भी संकेत दिया गया है। साफ है कि पायलट को कांग्रेस में रहना है या बाहर जाना है, इसके लिए उन्हें दो दिन की मोहलत दी गई है। विधायकों को कारण बताओ नोटिस का जवाब 17 जुलाई तक देना है। हालांकि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से बौखलाए सचिन पार्टी में वापस लौटने की दुविधा से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। इसीलिए कांग्रेस विधायक दल की बैठक में नहीं जाने को लेकर विधानसभा स्पीकर के जरिये आए नोटिस को लेकर पायलट अपने कानूनी सलाहकारों से मशविरा किया। 


भाजपा में नहीं जाने और कांग्रेस का सदस्य होने का बयान जारी किया

पायलट ने दिल्ली में गहलोत के खिलाफ तीर चलाए तो जयपुर में गहलोत ने पायलट की धज्जियां उड़ाई। कांग्रेस की ओर से नोटिस के तौर पर अनुशासन का डंडा चलाए जाने से विधायकों की सदस्यता पर मंडराते खतरों को देखते हुए ही अपने कानूनी सलाहकारों की राय के अनुरूप सचिन पायलट ने बुधवार सुबह भाजपा में नहीं जाने और कांग्रेस का सदस्य होने का बयान जारी किया। राजस्थान के प्रभारी महासचिव अविनाश पांडेय ने तब ट्वीट के जरिये सचिन को भाजपा के मायाजाल से बाहर आने की सलाह देते हुए कहा कि वे ऐसा करते हैं तो कांग्रेस के दरवाजे उनके लिए खुले हैं। 

चलते हुए राजस्थान की सरकार गिराने की भाजपा की साजिश में उनके हिस्सेदार होने का बयान देने से गुरेज नहीं किया।

इसके लिए सुरजेवाला ने मानसेर के पांच सितारा होटल में भाजपा की हरियाणा सरकार की ओर से कराई गई मेजबानी और विधायकों को वहां कड़ी सुरक्षा में रखे जाने का उदाहरण भी दिया। साथ ही विधायकों पर दबाव बढ़ाने के लिए यह भी कहा कि यदि सचिन भाजपा में नहीं जा रहे तो फिर उन्हें भाजपा की खट्टर सरकार की मेजबानी छोड़ कांग्रेस विधायकों समेत वापस अपने घर लौट आना चाहिए। 

कानूनी सलाहकारों और विधायकों से पायलट कर रहे गंभीर मंत्रणा 

सुरजेवाला का यह दांव स्पष्ट रूप से पायलट और उनके विधायकों को मौका नहीं दिए जाने की किसी तरह की कानूनी गुंजाइश का रास्ता बंद करना है। कांग्रेस के इस सियासी दांव को पढ़ते ही पायलट भी अपने कानूनी सलाहकारों और विधायकों से आगे की रणनीति पर गंभीर मंत्रणा कर रहे हैं। वैसे इस लड़ाई में मुख्यमंत्री गहलोत राजनीतिक और कानूनी दोनों मोर्चे पर पायलट पर भारी पडे़ हैं और कांग्रेस नेतृत्व भी उनके साथ मजबूती से खड़ा है।

पायलट के पास इतने विधायक नहीं कि वे गहलोत सरकार को गिरा सकें, ऐसे में वे अपने समर्थकों से नई पार्टी बनाने के विकल्पों पर गहन मंथन कर रहे हैं। इसमें भी पायलट की चुनौती इस लिहाज से बढ़ गई है कि विधायकी जाने के डर से उनके कैंप के कुछ विधायक वापस गहलोत के खेमे में लौटने का संदेश भेज रहे हैं। ऐसे में अगर दर्जन भर विधायक भी अपनी कुर्बानी देने के लिए तैयार नहीं हुए तब पायलट को न चाहते हुए भी कांग्रेस में लौटने का जहर पीने का विकल्प अपनाना पड़ सकता है।

Comments

Popular Posts

एरनकरो से पैसे केसे कमाए / How to earn money on Earnkaro

प्रकाशक: कैशकरो मूल्य: नि: शुल्क App के बारे में अर्नकरो एक ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म है, जहाँ आप अमेजन, फ्लिपकार्ट, माइन्ट्रा, जबॉन्ग, आदि या किसी भी अन्य अर्नकरो भागीदार साइट से सौदे साझा करके कमा सकते हैं। तकनीकी रूप से, यह अमेज़ॅन संबद्ध या फ्लिपकार्ट सहबद्ध बनने के बजाय सहबद्ध विपणन का एक बेहतर तरीका है • शून्य निवेश आपको पैसे खर्च करने या डिलीवरी आदि पर कुछ भी खरीदने की ज़रूरत नहीं है। ईयर क्र्रो ऐप में निवेश की ज़रूरत नहीं है, आपको बस समय बिताना होगा और आपको अधिक से अधिक यू लिंक लिंक करना होगा। • भुगतान विकल्प आप सीधे बैंक खाते में धनराशि स्थानांतरित कर सकते हैं या अपने कमाए कैरो शेष को अमेज़ॅन या फ्लिपकार्ट उपहार कार्ड में भुना सकते हैं • उच्च बटेर उत्पादों शीर्ष ब्रांडों या अमेज़न, फ्लिपकार्ट, Myntra आदि जैसे विश्वसनीय खुदरा विक्रेताओं से उच्च गुणवत्ता वाले उत्पाद प्राप्त करें इस वेबसाइट का उपयोग करने के लिए कैसे करें • सामाजिक प्लेटफॉर्म पर उत्पादों को साझा करने के बहुत सरल प्रिंसिपल पर यह काम जैसे - व्हाट्सएप, इंस्टाग्राम, फेसबुक आदि। • प्रोडक्ट्स लिंक को कमाओ कारो स…

Coronavirus Vaccine पर घमासान: US, UK, कनाडा ने रूस पर लगाया रिसर्च की 'साइबर चोरी' का आरोप

Coronavirus Vaccine News: कोरोना वायरस को लेकर अमेरिका और ब्रिटेन ने रूस पर साइबर हमले का आरोप लगाया है। दोनों देशों ने कनाडा के साथ मिलकर दावा किया है कि रूस की खुफिया एजेंसियों के लिए काम करने वाला ग्रुप Cozy Bear रिसर्च संस्थानों पर हमले कर रहा है और Intellectual Property चुराने की कोशिश कर रहा है। लंदन
एक ओर जहां पूरी दुनिया के वैज्ञानिक, डॉक्टर और रिसर्चर कोरोना वायरस का तोड़ खोजने में लगे हैं, अमेरिका, ब्रिटेन और कनाडा ने रूस पर वैक्सीन रिसर्च चोरी करने की कोशिश का आरोप लगाया है। तीनों देशों का दावा है कि रूस मेडिकल संगठनों और यूनिवर्सिटीज पर साइबर हमले कर रिसर्च चुराने की कोशिश कर रहा है। वहीं, क्रेमलिन ने इस आरोप का खंडन किया है। खास बात यह है कि अमेरिका और ब्रिटेन के अलावा रूस ने भी दावा किया है कि उसकी कोरोना वायरस वैक्सीन शुरुआती ट्रायल में असरदार निकली है।
हमलों के पीछे Cozy Bear नाम का ग्रुप
तीनों देशों का कहना है कि रूस इंटलेक्चुअल प्रॉपर्टी चुराने की कोशिश में साइबर हमले कर रहा है ताकि वह सबसे पहले या उनके साथ-साथ ही कोरोना वायरस वैक्सीन विकसित कर सके। तीनों ने गुरुवार को ए…

Lucknow Coronavirus News Update: लखनऊ में फिर टूटा कोरोना का रिकॉर्ड, एक दिन में 384 लोगों में मिला वायरस; अब तक 3915 संक्रमित

Lucknow Coronavirus News Update: लखनऊ में फिर टूटा कोरोना का रिकॉर्ड, एक दिन में 384 लोगों में मिला वायरस; अब तक 3915 संक्रमित लखनऊ, जेएनएन। Lucknow Coronavirus News Update: उत्तर प्रदेश में कोरोना की स्थिति भयावह बनी हुई है। रविवार को राजधानी में एक बार फिर कोरोना का रिकॉर्ड टूटा। एक दिन में 384 लोगों में वायरस की पुष्टि हुई है। बीते दिन मंत्री-आइपीएस अफसर समेत 224 में कोरोना की पुष्टि हुई है। वहीं, अब शहर में कुल 3915 कोरोना संक्रमित हो गए हैं।  जबकि 48 लोगों की मौत हो चुकी है। मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने के लिए जद्दोजहद भी करनी पड़ रही है। मरीजों की घंटों अस्पताल में शिफ्टिंग नहीं हो पा रही है।तीन लखनऊ व एक बिहार के मरीज की मौत राजधानी के मालवीय नगर निवासी 36 वर्षीय पुरुष की तबियत खराब हो गई। उसकी जांच में काेरोना की पुष्टि हुई। 16 जुलाई को मरीज को केजीएमयू भर्ती कराया गया। संस्थान के प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह के मुताबिक मरीज में डायबिटीज व बीपी की समस्या थी। ऐसे में कार्डियो पल्मोनरी अरेस्ट हो गया। वेंटिलेटर पर इलाज के दरम्यान मरीज की सांसें थम गईं। वहीं लाल कुआं निवासी 65 वर्षी…